भारताचे माजी पंतप्रधान व भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी यांचे वृधाप्कालाने आज निधन झाले. अनेक काळापासून अटलजी राजकारणापासून दूर होते. आज त्यांच्या वयाच्या ९३ व्या वर्षी निधन झाले. अटलजींना राजकारण व देशाबाबत जितके प्रेम होते तितक्याच प्रेमाने ते काव्यरचना हि करायचे, त्यांनी त्यांच्या कारकिर्दीत वेळेप्रसंगी घडलेल्या घटनांना अनुसरून अनेक वाक्य लिहिले जे कि लोकांना विचार करण्यास भाग पडायची.

अटलजींनी हिंदी मध्ये लिहलेले काही प्रसिद्ध Quotes:

  • आप मित्र बदल सकते हैं, पर पड़ोसी नहीं
  • अगर भारत धर्मनिरपेक्ष नहीं होता, तो भारत भारत नहीं होता.
  • सत्ता का खेल तो चलेगा, सरकारे आयेगी और जायेगी, पार्टीया बनेगी बिघडेगी, मगर ये देश रहणा चाहिये इस देश का लोकतंत्र अमर रहणा चाहिये.
  • देश एक मंदिर है, हम पुजारी है राष्ट्रदेव कि पूजा में हमे अपने को समर्पित कर देना चाहिये.
  • जो लोग हमसे पूछते हैं कि हम कब पाकिस्तान से वार्ता करेंगे वो शायद ये नहीं जानते कि पिछले 55 सालों में पाकिस्तान से बातचीत करने के सभी प्रयत्न भारत की तरफ से ही आये हैं.
  • छोटे मन से कोई बडा नही होता, तुटे मन से कोई खडा नही होता.
  • गरीबी बहुआयामी है. यह हमारी कमाई के अलावा स्वास्थ, राजनीतिक भागीदारी, हमारी संस्कृति और सामाजिक संगठन की उन्नति पर भी असर डालती है.
  • पाकिस्तान के साथ सामान्य संबंध बनाने की कोशिशें हमारी कमजोरी का प्रतीक नहीं हैं, बल्कि ये शांति के लिए हमारी प्रतिबद्धता की संकेत हैं.
  • मेरा कवि हृदय मुझे राजनीतिक समस्याएं झेलने की ताकत देता है.
  • हमारे परमाणु हथियार विशुद्ध रूप से किसी विरोधी की तरफ से परमाणु हमले के डर को खत्म करने के लिए हैं.
  • मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूं जो समृद्ध और मजबूत है, ऐसा भारत जो दुनिया के महान देशों की पंक्ति में खड़ा हो.
  • सार्वजनिक दिखावे से शांत कूटनीति कहीं ज्यादा प्रभावी होती है.
  • हकीकत यह है कि संयुक्त राष्ट्र जैसे अंतरराष्ट्रीय संगठन उतने ही प्रभावी हो सकते हैं जितना उनके सदस्य उन्हें होने की अनुमति दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here